Saturday, December 04, 2021
होम संस्कृति तरह-तरह के राम: कहीं लक्ष्मण रेखा नहीं, कहीं सीता के भाई भी हैं राम

तरह-तरह के राम: कहीं लक्ष्मण रेखा नहीं, कहीं सीता के भाई भी हैं राम

Firstpost | 11-05-2018 09:10

तुलसीदास ने रामकथा में बहुत कुछ बदल दिया. समय-समय पर ऐसे बदलाव समाज की गति के हिसाब से बदलने चाहिए