Monday, October 25, 2021
होम फरीदाबाद कोरोना वायरस के बचाव में फरीदाबाद जिला बना भारत में नंबर वन : उपायुक्त जितेंद्र यादव

कोरोना वायरस के बचाव में फरीदाबाद जिला बना भारत में नंबर वन : उपायुक्त जितेंद्र यादव

citykhabre | 03-10-2021 20:00

फरीदाबाद: उपायुक्त जितेंद्र यादव ने बताया कि वैश्विक महामारी कोविड-19 के कोरोना वायरस के बचाव के लिए फरीदाबाद जिला भारत का सबसे पहला जिला बना है। इसके लिए जिला के सभी नागरिकों ने अपनी भागीदारी सुनिश्चित करके यह मिसाल कायम की है। उपायुक्त जितेंद्र यादव ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिला में 18 वर्ष से अधिक आयु के लोगों की लगभग जनसंख्या 15 लाख 81 हजार है। इसके अलावा जिला फरीदाबाद में हरियाणा, दिल्ली, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, पंजाब सहित अन्य प्रांतों से आए कोविड-19 के कोरोना संक्रमण के लोगों का भी उपचार किया गया है।

फरीदाबाद भारत में कोरोना संक्रमण के बचाव के लिए नंबर वन जिला बनने के लिए फरीदाबाद के हर नागरिक ने अपनी भागीदारी की सुनिश्चित करके यह एक मिसाल कायम की है। इसके अलावा फरीदाबाद के आयुक्त संजय जून के कुशल मार्ग दर्शन में एमसीएफ के कमिश्नर यशपाल, अतिरिक्त उपायुक्त सत्यबीर मान, सहित तमाम प्रशासनिक तथा पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों, स्वास्थ्य विभाग के निदेशक डॉ रणदीप पुनिया, वर्तमान जिला चिकित्सा अधिकारी विनय गुप्ता, डॉक्टर राजेश श्योकंद, डॉक्टर राम भगत, डॉ मानसिंह सहित स्वास्थ्य विभाग के तमाम अधिकारियों व कर्मचारियों का बेहतर योगदान रहा है।

आपको बता दें जिला फरीदाबाद में कोरोना संक्रमण के बचाव के लिए किए जा रहे वैक्सीनेशन की पहली डोज भी सभी नागरिकों को लग चुकी है। अब बाकी के बचे लोगों को दूसरी डोज आगामी दीपावली का त्यौहार तक पूरी कर ली जाएगी। उपायुक्त जितेन्द्र यादव ने बताया कि कोरोना संक्रमण के बचाव के लिए आक्सीजन, वैक्शीनेशन और वैन्टीलैटर सहित तमाम चिकित्सा सुविधाएं लोगों को मुहैया करवाई गई थी। उन्होंने बताया कि विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार कोरोना वायरस के बचाव के लिए आम जनता ने भी सामाजिक दूरी, मुहं पर मास्क लगाना, हाथो को बार- बार सनेटाइजर करते रहने सहित सभी नियमों की पालना सुनिश्चित की गई।

जिला उपायुक्त ने बताया कि सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार अभियान बनाकर जिला में कोई भी व्यक्ति कोरोना संक्रमण के बचाव के वैक्शीनेशन से जिला में वंचित नही रहेगा। उन्होंने कहा कि हमारा जिला वैसे भी प्रदेश में संवेदनशील जिलों में शामिल है। क्योंकि हमारे जिला में देश के सभी प्रांतों और अन्य देशों के लोग यहां रहते हैं।कोविड-19 के नियमों की पालना सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार सभी स्थानों पर सुनिश्चित गई। सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार सोशल डिस्टेंस रखना, मुंह पर मास्क लगाना, सैनिटाइजर करना सहित अन्य सभी हिदायतें पूरी सुनिश्चित की जा रही है। इसके लिए टीमें गठित की गई थी। इसके अलावा मोबाइल टीमें और ट्राजिंट टीमें भी बनाई गई थी। जिला में नान माईग्रेटिड हाई रिस्क 26 क्षेत्र और कुल 571 क्षेत्र है। इनमें स्लम की 327, नोम्ड की 7, ईट भट्टे 121और निर्माणाधीन साईटो के लिए 57 टीमें गठित की गई थी।

कोरोना संक्रमण अभियान के तहत शिक्षा,महिला एवं बाल विकास विभाग, पंचायत विभाग,रोड़वेज तथा अन्य समाजसेवी संगठनों का भी सहयोग लिया गाया जिला में कोविड-19 के लिए वैक्शीनेशन का अभियान अब चलाया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी और कर्मचारी गंभीरता के साथ कार्य कर रही हैं।